पता करें कि आपकी किडनी सुरक्षित है या नहीं और आपकी किडनी की सुरक्षा कैसे की जाती है

Health Tips

आज मैं आपको जो बात बताऊंगा वह है आपकी किडनी के बारे में चेतावनी।
जब किडनी में संक्रमण होता है, तो शरीर जटिल समस्याओं का निर्माण करने लगता है। इसलिए, कई चिकित्सक गुर्दे की समस्या या बीमारी की व्याख्या ‘म्यूट किलर’ के रूप में करते हैं। क्योंकि गुर्दे की समस्याओं या नाखुशी के कोई विशिष्ट लक्षण नहीं हैं। हालांकि, कुछ लक्षण ऐसे हैं जो बेहद सामान्य लग सकते हैं, लेकिन आपको उन्हें नोटिस करने से पहले सावधान रहने की जरूरत है। आइए जानें कुछ ऐसे लक्षणों के बारे में जो किडनी की समस्या या बीमारी के बढ़ने का संकेत हो सकते हैं।

मुंह और आंखों की असामान्य सूजन

यदि मुंह, नेत्रगोलक या अचानक सूजन आ जाए तो सतर्क होना जरूरी है। यह किडनी की समस्या या नाखुशी के कारण हो सकता है।

बार-बार मूत्र का वेग आना

यदि आप बार-बार मूत्र के वेग का अनुभव करते हैं, तो आपको पहले से सावधान रहने की आवश्यकता है! किडनी ठीक से काम नहीं कर रही है तो यह समस्या हो सकती है।

त्वचा असमान हो जाती है और अचानक सूख जाती है

क्या आपकी त्वचा अचानक सूखी है? फिर सावधान रहना जरूरी है। यह गुर्दे की समस्याओं या नाखुशी के लिए मामला हो सकता है। क्योंकि किडनी हमारे शरीर से हानिकारक पदार्थों को बाहर निकाल देती है। इसलिए जब किडनी चिड़चिड़ी हो जाती है, तो ये हानिकारक तत्व शरीर में जमा हो जाते हैं और हमारी त्वचा को शुष्क और खुरदरा बना देते हैं।

कमर के ऊपर लगातार दर्द महसूस करना

पीठ पर, अगर आपको कमर के ऊपर लगातार दर्द महसूस हो रहा है तो सतर्क रहना जरूरी है।

पैर या पीठ की मांसपेशियों में लगातार असामान्य तनाव

यदि आप अपनी पीठ, पैर या पीठ की मांसपेशियों में असामान्य तनाव या खुजली को नोटिस करते हैं, तो सावधान रहना महत्वपूर्ण है। यह गुर्दे की समस्याओं या नाखुशी के लिए मामला हो सकता है।

पैर की अचानक असामान्य सूजन

यदि आप ध्यान दें कि आपका टखना या पैर का अंगूठा अचानक असामान्य है, तो सावधान रहना महत्वपूर्ण है। यह गुर्दे की समस्याओं या नाखुशी के लिए मामला हो सकता है।

पेशाब के दौरान जलन या दर्द

यदि आपको किडनी की समस्या है, तो आपको मूत्र पथ का संक्रमण हो सकता है। इससे पेशाब के दौरान जलन या दर्द भी हो सकता है।

लघु और सूक्ष्म

सांस लेने में कठिनाई के पीछे रक्तचाप, थकावट, थकावट, सांस की तकलीफ और गुर्दे की समस्याओं में तेजी से उतार-चढ़ाव हो सकता है।

नींद की समस्या

किडनी की समस्या के कारण भी नींद में खलल पड़ सकता है। यदि गुर्दे ठीक से काम नहीं करते हैं, तो रक्त को अच्छी तरह से परिष्कृत नहीं किया जा सकता है। इसलिए नींद भी समस्या पैदा कर सकती है।

पेशाब के साथ खून आना

यदि आप मूत्र से खून निकलते हुए देखते हैं, तो सावधान रहना जरूरी है। कई मामलों में, यदि मूत्र ठीक से काम नहीं कर रहा है तो मूत्र से रक्त निकल सकता है।

यदि आप ऊपर वर्णित लक्षणों में से किसी को नोटिस करते हैं, तो डॉक्टर द्वारा सलाह के अनुसार मूत्र (मूत्र) की जांच की जानी चाहिए। यदि आपके पास कोई दोष है, तो एक नेफ्रोलॉजिस्ट या गुर्दा रोग विशेषज्ञ से परामर्श करना महत्वपूर्ण है।

इस पोस्ट को पढ़ने के लिए धन्यवाद।
अगर आपको यह पोस्ट पसंद आये तो लाइक अवश्य करें।
पोस्ट कैसी लगी कमेंट करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *